Select Page

बांझपन की समस्या से जूझ रहा हर व्यक्ति मेरी यह विडियो जरूर देखे

Kulvardhak से गूंजी हमारे घर मे खुशियो की किलकारिया

Customers Reviews

There are no reviews yet. Be the first one to write one.

Submit Your Review

नमस्कार, दोस्तो मेरा नाम Aarti शर्मा है और मेरा यह ब्लॉग लिखने का सिर्फ इतना ही मकसद है के
बहुत सारे निसंतान दंपति जो की यह समझते है के बांझपन एक लाईलाज बीमारी है। उन्हे मेरा यह ब्लॉग पड़ कर यह बात अच्छे से समझ आ जाये के बांझपन ना तो एक लाईलाज बीमारी है और दूसरा यह के आयुर्वेद मे बांझपन जैसी समस्या का आज एक बहुत ही प्रभावशाली ईलाज मौजूद है

4.5 साल। क्या आप कल्पना भी कर सकते है, के अगर एक महिला शादी के 4.5 साल बाद तक भी माँ नहीं बन पाये तो उसको और उसके पति को कितने दुखो और कितनी जिल्लतों से गुजरना पड़ता है। सच तो यह है के, मै नहीं चाहती, के आप लोग इसकी कल्पना भी करे। क्यूकि इस संसार का सबसे बड़ा दुख यही है के आप औलाद के सुख से वंचित रह जाये।
शादी के बाद मेरे In Laws Family की हमसे सबसे बड़ी उम्मीद यही थी के, हम उनके वंश को आगे बढ़ाये और जल्द से जल्द हमारे घर के आँगन मे खुशीओं की किलकारिया गूँजे।
लेकिन कई बार हमारे सपनो को किसी की बुरी नज़र लग जाती है।
मेरी शादी को 2 साल गुज़र चुके थे लेकिन अभी तक हमारा Parents बनने का सपना अधुरा ही था। अब हमे लगने लगा था के हमे एक अच्छे डॉक्टर की सलाह की जरूरत है, इसीलिये हमने अपने शहर की best Gynecologist से consult करने का फैसला किया। मै उन Gynecologist का, या फिर उनके हॉस्पिटल का नाम यहा पर mention नहीं करना चहुंगी क्यूकि मेरा यह ब्लॉग लिखना का मकसद किसी को नीचा दिखना नहीं, बल्कि बांझपन से झुझ रहे निसंतान दंपतियों को एक सही राह दिखाना है।
Gynecologist से consult करने पर उन्होने हमारी सारी problems सुनने के बाद हमे कुछ Tests करवाने की सलाह दी, जिनमे मेरे FSH, LH, AMH, TSH tests लिखे थे, और मेरे husband का Semen Analysis test लिखा था।
डॉक्टर के अनुसार, हमने अपने सभी tests करवा लिये, ओर Test Reports मिलने पर हमने दुबारा से अपने डॉक्टर के साथ consult किया, Reports को देखने के बाद हमारी डॉक्टर ने हमे बताया के मुझे PCOD की problem है और मेरे husband का Semen Count ओर Semen Motility दोनों ही कम है।
Problem Diagnose होते ही हमने अपनी डॉक्टर के अनुसार treatment शुरू कर दिया। Treatment शुरू होने के बाद मुझे बड़ी उम्मीद थी के अब मै जल्द ही माँ बन जाऊँगी क्यूकि हम अपने शहर की बेस्ट Gynecologist से treatment ले रहे थे और हर इंसान बेस्ट डॉक्टर के पास जाकर येही सोचता है के अब उसकी बीमारी का ईलाज हो ही जाएगा।
6 महीने लगातार दवाईया खाने के बाद भी, जब हमे किसी भी तरह का कोई Result नहीं मिला, तो हमने एक बार फिर से अपनी Doctor के साथ consult करने का फैसला किया, इस बार की Consultation के दोहरन, अपने मन का doubt clear करने के लिये, मैंने अपनी Doctor से एक प्रशन पूछा, के डॉक्टर जी और कितना वक्त लग सकता है हमारी इस problem को ठीक होने मे, क्यूकि पिछले 6 महीनो पहले की test reports मे ओर इस बार दुबारा से करवाये गये सभी test की reports में किसी भी तरह की कोई improvement नहीं हुयी थी, ना तो मेरी PCOD की problem मे ओर ना ही मेरे Husband की Semen की प्रोब्लेम मे । इस बार की reports भी पहले की तरह एक समान थी, Reports को देखने के बाद ओर मेरे पूछने पर, उन्होने ने मुझे जवाब दिया, के Aarti आपके इस प्रशन का मेरे पास कोई भी जवाब नहीं है, कितना भी वक़्त लग सकता है। Doctor की इस बात को सुन कर मेरे stress का level और बढ़ने लगा।

मेरे Husband की Test Report

मेरी  Test Report

खैर,अपनी Gynecologist की बात मानने के इलवा हमारे पास दूसरा कोई ओर रास्ता भी तो नहीं था, इसीलिये हमने treatment को continue करने का फैसला किया। इस बार हमारी Gynecologist ने हमे कुछ नयी दवाईया recommend की ओर हमे आश्वासन दिलवाया के बहुत ही जल्द मेरा माँ बनने का सपना पूरा होगा।
वक़्त गुजरता जा रहा था और Treatment चलता जा रहा था, लेकिन अभी तक किसी भी तरह की कोई उम्मीद नहीं दिख रही थी।
सबसे ज्यादा बुरा तो मुझे तब लगता था जब कोई पुछता था के Aarti Good News कब दे रही हो।
6 महीने और बीत गये और हम आज भी मायूस ही थे। इसलिए हमने अपने डॉक्टर से दुबारा से consult किया और consult करने पर डॉक्टर ने हमे पहले से हुवे सभी टेस्टो को दुबारा से करवाने की सलाह दी, क्यूकि नयी test reports को देखकर वोह से सनुचित करना चाहती थी के पिछले 6 महीनो मे इस बार कितनी improvement हुयी है। उनके कहने के अनुसार हमने अपने सभी टेस्टो को दुबारा से करवा लिया ओर reports आने पर डॉक्टर के पास चले गये। Test Reports को देखने के बाद जब हमारी डॉक्टर ने हमे यह बताया के इस बार भी, कोई improvement नहीं हुयी है, तो उनकी यह बात सुनते ही मै और मेरे हसबेंड दंग रह गये। मानो जैसे पूरा साल पढ़ाई करने के बाद किसी छात्र ने exam दिये हो और रिज़ल्ट आने पर उसे पता चले के वोह फ़ेल हो गया है। मेरे हसबेंड ओर मेरी भी येही हालत थी।
मेरे हसबेंड को तो यकीन ही नहीं हो रहा के हम अपने शहर की बेस्ट Gynecologist से अपना treatment ले रहे है, और हमारी प्रोब्लेब मे 1 भी परसेंट improvement नहीं हो रही है, क्यूकि पिछले 1 साल से लगातार दवाईयां खाने के बाद भी हमारे हाथ मे निराशा ही लगी थी।
इसिलिये अब हमने Doctor change करने का फैसला लिया। नये डॉक्टर ने भी हमारे कुछ Test किये और reports आने पर उन्होने भी हमे कुछ medicines दी।
So according to Doctor हमने उनकी बतायी हुयी medicines को अगले 8 months तक लगातार लिया लेकिन, फिर भी हमे किसी भी तरह का कोई result नहीं मिला। और अब हमे हमारा माता पिता बनने का सपना भी एक सपना बंता हुवा नज़र आ रहा था।
जब भी हम अपने डॉक्टर से पूछते के डॉक्टर साहिब कोई उम्मीद है के हम भी कभी माता पिता बन सकंगे, तो हमे अपने डॉक्टर साहिब की तरफ से बस एक ही रटा रटाया जवाब मिलता के IVF करवा लीजिये। अब बस येही एक रास्ता है आपके पास।
अब तो हमे भी IVF के इलावा दूसरा कोई ओर रास्ता नज़र नहीं आ रहा था।
इसिलिये मेरे Husband ने अपनी family से इसके बारे मे discuss किया। लेकिन मेरी In laws family ने IVF के लिये मना कर दिया, क्यूकि उनका मानना थे के IVF करवाने से पहले हमे आयुर्वेद मे भी एक बार अपना treatment करवाना चाहिए,
लेकिन मै ओर मेरे हसबेंड आयुर्वेद पर ज्यादा विश्वास नहीं करते थे। इसिलिये मेरे हसबेंड ने अपनी फॅमिली को फोर्स करके IVF के लिये मना ही लिया। In laws family की तरफ से हा मिलते ही हमने जल्दी से IVF की प्रक्रिया शुरू कर दी।
आगे बढ़ने से पहले मै आपको एक बात जरूर बताना चहुंगी के IVF एक बहुत ही महंगी और Painful प्रक्रिया है। इतनी ज्यादा painful के मै इसको शब्दो मे बयान नहीं कर सकती। फिर भी एक औरत माँ बनने के लिये IVF जैसी दर्दनाक प्रक्रिया से भी गुजरने को तैयार हो जाती है।
IVF से पहले Doctor ने अपनी consultation के दोहरन हमे इतना Positive कर दिया था के उनकी बातें सुन कर मुझे ऐसा लगता था के अब बस IVF के बाद मेरा माँ बनने का सपना पुरा होने ही वाला है।
लेकिन शायद हमारी किस्मत मे अभी और दुखो को झेलना लिखा था। मेरा IVF भी Success नही हुवा। अब मुझे पुरी तरह से यक़ीन हो गया था के मै अब कभी भी माँ नहीं बन सकती।
लेकिन मेरे husband IVF फ़ेल होने के बाद, भी उम्मीद थी के कुछ ना रास्ता जरूर निकल आयेगा। उसी उम्मीद के साथ अब मेरे हसबेंड ने आयुर्वेद मे इस समस्या का ईलाज ढूंदना शुरू कर दिया। वोह देर रात तक internet पर search करते रहते के उनको आयुर्वेद मे ही इस समस्या का कोई सटीक ईलाज मिल जाये।
अपनी इस सर्च के दोहरान, एक दिन मेरे Husband को Kulvardhak medicine के बारे मे पता चला। उन्होने मुझे भी इसके बारे मे बताया, के बहुत सारे Infertile Couples जो hopeless हो चुके थे Infertility की problem की वजह से ओर थक चुके थे हमारी तरह Doctors के पास अपना ईलाज करवा करवा कर, ऐसा Hopeless Couples के लिये एक Hope बन कर आया है Kulvardhak KulVardhak medicine ने बहुत सारे Infertile Couples का Parents बनने का सपना पूरा किया है।
लेकिन सच कहू तो मुझे इस बात पर बिलकुल भी यकीन नहीं हुवा के सच मे कुलवर्धक दवा Infertile couples के लिये इतनी effective medicine हो सकती है।
इसिलिये मैंने अपने Husband से कहा के हम अपनी शहर के Best Doctors से अपना treatment ले चुके है जब उनके treatment से हमे कोई रिज़ल्ट नहीं मिला रहा तो यह कुलवर्धक दवा से क्या होगा।
मेरे husband ने मुझसे कहा, के कुलवर्धक दवा को भी एक बार Try करने मे क्या problem है, मैंने इस दवा को इस्तेमाल करने वाले लोगो के reviews पड़े है और 90% लोगो ने इस दवा के बारे मे Positive reviews ही दिये है। और वैसे भी हम IVF ओर बाकी सभी treatments पर इतना पैसा बर्बाद कर चुके है, तो इस Kulvardhak को भी try करने मे क्या हर्ज़ है,
आयुर्वेदिक है, क्या पता हमे results ही मिल जाये। ओर वैसे भी इसके पूरे 4 महीने के कोर्स की कीमत 4200 रुपये ही तो है। इससे ज्यादा पैसे तो हमसे डॉक्टर treatment शुरू होने से पहले ही ले लेता था दुनिया भर के tests करवाकर। तो इसको भी try करने मे क्या प्रोब्लेम है।
इनके इतना force करने पर मै मान ही गयी और हमने इसे भी एक बार try करने का फैसला लिया। लेकिन सच पूछे तो मुझे इस कुलवर्धक से कुछ ज्यादा उम्मीदे नहीं थी।
इसे तो बस मैंने अपने husband की खुशी के लिये मँगवाने का फैसला लिया था। खैर ऑर्डर करने के कुछ दिन बाद ही हमे Kulvardhak medicine की delivery मिल ही गयी, और दवा के मिलते ही मैंने ओर मेरे हसबेंड ने निरदेश अनुसार इस दवा का कोर्स शुरू कर दिया। प्रोब्लेम मेरे ओर मेरे हसबेंड दोनों मे थी इसिलिये हमने हमारे दोनों के लिये ही मैडिसिन मँगवायी थी। कुलवर्धक मे male ओर female दोनों के लिये अलग अलग मैडिसिन आती है।
वक़्त बीतता गया, ओर हमारा कुलवर्धक का कोर्स चलता गया। कुलवर्धक का टोटल कोर्स 4 महीने का था और हमे दवा लेते हुवे 3 महीने बीत गये थे लेकिन हमे अभी भी किसी भी तरह का कोई रिज़ल्ट नहीं मिला था। मुझे अब लगने लगा था के शायद आयुर्वेद मे भी इस समस्या का कोई उपचार नहीं है। लेकिन अभी 1 महीने का कोर्स ओर बाकी था ओर मेरे हसबेंड को पूरी उम्मीद थी के इस बार हमे जरूर रिज़ल्ट मिलेगा। कुलवर्धक का कोर्स खतम हुवा। कोर्स खतम होने के 1 महीने बाद हमारे साथ वोह हुवा जिसकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की थी। मेरी pregnancy test Report positive आयी।
आज भी जब मै उस लम्हे को याद करती हूँ तो मै भावुक हो जाती हूँ, उस लम्हे को ब्यान करने के लिए आज भी मेरा पास शब्द नहीं है, आज भी इस ब्लॉग को लिखते लिखते मेरी आंखो मे आँसू भर आये है।
शायद एक औरत, जो के इस वक़्त से गुजर चुकी है या फिर गुजर रही है वोह मेरे उस खुशी के लम्हे को समझ सकती है।

उस दिन मुझे इस बात पर पूरी तरह से यकीन हो गया के मॉडर्न science और बड़े बड़े हॉस्पिटल जिन बीमारियो के आगे हार मान जाते है उन लाईलाज बीमारियो मे भी आयुर्वेद चमत्कार कर के दिखाता है।
लेकिन मेरे मन मे अभी भी एक सवाल था के Kulvardhak दवा मे ऐसा क्या खास है के, मेरी और मेरे हसबेंड की जिस problem को हमारे शहर के बेस्ट Doctors 2 साल मे भी ठीक नहीं कर पाये उसे कुलवर्धक ने मात्र 4 महीने मे कैसे ठीक कर दिया।
इसी जानकारी को पाने के लिये मैंने कुलवर्धक दवा का निर्माण करने वाली कंपनी मे फोन किया। और वह के सीनियर डॉक्टर से बात की।
वहा के सीनियर डॉक्टर को जब मैंने यह बताया के हमने कुलवर्धक का कोर्स किया था ओर हमे इसके positive रिजल्ट्स मिले है, तो मेरी इस बात को सुनकर उन्होने सबसे पहले तो मुझे बधाई दी और फिर उन्होने मुझे बताया के हरदिन बहुत सारे निसंतान दंपति हमे कॉल करके इस बात की सूचना देते है के क्यी सालो के असफल इलाज के बाद भी, कुलवर्धक ने उनके माता पिता बनने के सपने को पूरा किया है।
उन्होने मुझे दवा की जानकारी देते हुवे बताया के कुलवर्धक ओषधि का निर्माण आयुर्वेद की एक बड़ी ही प्राचीन विधि के अनुसार किया गया है और इसकी निर्माण विधि ही इसमे सबसे प्रमुख है। इसकी निर्माण विधि मे आयुर्वेद की हर बात का ध्यान बड़ी बारीकी से रखा गया है जैसे के कौन सी जड़ी बूटी को कब और किस ऋतु मे निकालना है, किस जड़ी का कौनसा और कितना भाग लेना है, किस जड़ी को पीस कर दवा मे मिलाना है और किस जड़ी की सिर्फ भावना ही देनी है। यही कारण है के आज कुलवर्धक दवा बांझपन की प्रोब्लेम के लिए सबसे कारगर और effective दवाई साबित हो रही है। और इसका लाभ उन लोगो को मिल रहा है जिन लोगो अपनी बांझपन की समस्या का ईलाज क्यी बड़े बड़े नामचीन डॉक्टरओ के पास, कई साल तक करवाने के बाद, इस बात की उम्मीद भी छोड़ दी थी के उनका माता पिता बनने का सपना अब कभी पूरा भी होगा।
यह सारी जानकारी मिलने के बाद मुझे इस बात का पुरा यकीन हो गया के कुलवर्धक दवा ही निसंतान दंपतियों के लिए सबसे सस्ता और सबसे effective treatment है।
मेरी एक बड़ी ही close friend भी इसी problem से गुजर रही थी लेकिन उसके यहा problem सिर्फ उसके husband की reports मे आयी थी। उन्हे भी मैंने Kulvardhak for male कीट के बारे मे recommend किया। उन्होने मेरी बात सुनने के बाद तुरंत ही Kulvardhak for male kit का ऑर्डर कर दिया और दवा मिलते ही उसके husband ने भी Kulvardhak for male कीट का treatment शुरू कर दिया और कुछ महीने बाद उन्हे भी Positive Results मिला।
मेरा यह Blog लिखने का Reason यही है के जो लोग बांझपन की समस्या से कई सालो जूझ रहे है। उन्हे एक सही राह मिले। क्युकि हर कोई बड़े बड़े होस्पिटल्स और IVF का खर्च नहीं उठा सकता।
मै आप सभी लोगो से Request करती हूँ के जिन जिन लोगो को Kulvardhak medicine के positive results मिले है वोह अपने comments जरूर लिखे ताकि सब लोगो को इस बात का यकीन हो सके के यह कोई मंगड़त कहानी नहीं बल्की किसी के जीवन का सच है।
मै नीचे Kulvardhak medicine की officially website का लिंक दे रही हूँ मैडिसिन के regarding किसी भी प्रकार कि जानकारी के लिए आप company की वैबसाइट पर जा कर सारी जानकारी ले सकते है। Wish You All The Best. धन्यवाद